bBA ka full form | BBA full form in hindi
BBA Ka Full Form

bBA ka full form | BBA full form in hindi

BBA Ka Full Form | BBA Full Form In Hindi

हॅलो दोस्तो सभी का स्वागत है आज के आर्टिकल मे जिसका नाम है BBA Ka Full Form in Hindi हर वर्ष हमारे भारत मे 80% स्टुडंट्स स्कूल और कॉलेज पास करते है और उन मे से कही स्टुडंट्स आगे BBA की पढाई करना चाहते है पर उन मे से कही स्टुडंट्स कोBBA Ka Full Form in Hindi क्या होता है यह पता नही होता या कही सारी और भी लोग होते है

जिनको BBA Full form in Hindi की जानकारी नही होती तो उन सभी के लिए आज हम BBA Ka Full Form in Hindi इस आर्टिकल के जरीऐ BBA Full form in Hindi क्या है यह जानकारी देंगे और उसके साथ साथ बीबीए का मतलब क्या होता है?


बीबीए कौन सी डिग्री है? BBA में कितने सब्जेक्ट होते हैं? बीबीए में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं? BBA के बाद क्या करे? इन सभी पर बात करेंगे और इनकी जानकारी को देखेंगे जिनसे आपको BBA से चुडी और भी जानकारी मिल सके तो चलिये हम आर्टिकल शुरुआत करते है

बीबीए का मतलब क्या होता है (BBA ka matalab kya hota hai)

BBA Full Form “Bachelor of Business Administration” और BBA Ka Full Form in Hindi में मतलब होता है “व्यवसायिक प्रबंधन में स्नातक” है। बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन स्नातक या बीबीए बारहवीं कक्षा के बाद सबसे लोकप्रिय डिग्री कार्यक्रमों में से एक है।

व्यवसाय प्रशासन इसमें व्यवसाय संचालन की देखरेख और सभी पहलू शामिल हैं। नेतृत्व और प्रबंधन के नजर से इसमें लेखांकन, वित्त, परियोजना प्रबंधन और विपणन शामिल हैं।

BBA कौन सी डिग्री है

हर साल देशभर में बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट आने लगे हैं । ऐसे में स्टूडेंट्स में कौनसा कोर्स किया जाए जिसमें अच्छे जॉब की संभावनाओं के साथ – साथ अपना भविष्य भी बेहतरीन हो सके । यह सवाल बना रहता है और इसके लिए BBA एक बेहतर विकल्प हो सकता है बीबीए एक स्नातक डिग्री होती है |

दिल्ली यूनिवर्सिटी ने 2013 में (बीबीएस) मतलब बैचलर ऑफ बिजनेस स्टडीज, (बीएफआईए) बैचलर ऑफ बिजनेस इकोनॉमिक्स और बैचलर ऑफ फाइनेंशियल इन्वेस्टमेंट एंड एनालिसिस मिलाकर एक (बीएमएस) बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज को तैयार किया है, जिसकी चार साल की अवधि है |

12 वीं के बाद बीबीए में प्रवेश लिया जा सकता है| और BBA मे प्रवेश प्राप्त करने के लिए प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं | ये परीक्षाएं साल के अप्रैल और मई महिने में होती है | प्रवेश परीक्षाओं में आपके एनालिटिकल रीजनिंग, क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड और सामान्य अंग्रेजी को परखा जाता है |

इस प्रवेश परीक्षाओं में सिंबायोसिस के लिए एसईटी जनरल, डीयू की बीएमएस की सीईटी जीजीएसआईपी के लिए सीईटी मुख्य है | कुछ यूनिवर्सिटी में मैनेजमेंट इंटीग्रेटेड प्रोग्राम भी संचालित करती हैं जो 5 साल के होते है और जिसमें बीबीए और एमबीए एक साथ दिये जाते हैं |

BBA में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

BBA कोर्स की पढ़ाई मे कुल मिलाकर 40 सब्जेक्ट को पढ़ाया और सिखाया जाता है |
अलग-अलग कॉलेज और यूनिवर्सिटी में इन विषय में थोड़ा अंतर हो सकता है | BBA Full Form in Hindi इस आर्टिकल में आपको बीबीए में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं? उन के बारे में बताऊंगा जो कि आपको हर एक कॉलेज में पढ़ाया और सिखाया जाता है |

बीबीए में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

Business mathematics and statistics

व्यापार में गणित और स्टॅटिस्टिक की जानकारी होना बहुत जरूरी होता है तभी तो हम अपने प्रतिद्वंदी की बिजनेस analysis और स्ट्रॅटेजि analysis कर सकते हैं तो इस विषय में आपको व्यापार के बेसिक गणित और स्टॅटिस्टिक को पढ़ाया और सिखाया जाता है इस विषय मे पूरी तरह से नंबरों का खेल होता है इसमें कई तरह के डाटा को सिखाया जाता है
इस विषय में आपको नंबर डाटा को समझकर उसे analyse करना होता है | यह विषय आपको एकाउंटिंग फाइनेंस के लिए काफी मदद करता है |

Business economics

यह विषय में हमे व्यापार की अर्थव्यवस्था के बारे में पढ़या और सिखाया जाता हैं | यह विषय मे आपको इकोनॉमिक्स की बहुत अच्छी जानकारी दि जाती है । इसमें आपको मिक्रोइकॉनॉमिकस मॅक्रोइकॉनॉमिकस बिजनेस स्टॅटिस्टिक इंटरनॅशनल बिजनेस और financial अकाउंटिंग जैसे अलग-अलग भागों को पढ़ाया जाता है।

Principles of management

इस में विदयार्थीयों को मैनेजमेंट के सिद्धांतों के बारे में पढ़ाया जाता है | इन सिद्धांतो का उपयोग करके वह विदयार्थी किसी भी ऑरगॅनिझशन को चला सकता है | कंपनी और ऑरगॅनिझशन चलाने में कैसे principles of management का उपयोग किया जाता है यह सारी चीजें की principles of management में पढ़ाई और सिखाई जाती है |

Introduction to operation research

introduction to operation research यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है | इस में आपको सिखाया जाता है कि कैसे आप अपने ऑपेरेशन की इफिसिएंचय मे इनका उपयोग करके [applications of theories mathematics solutions, model and simulation] बढ़ा सकते हैं |

Microeconomics

यह विषय में हमे अर्थव्यवस्था के micro level विषयों के बारे में जानकारी दि जाती है |
जो विदयार्थी मैनेजमेंट करना चाहते हैं उनके लिए यह बहुत ही महत्वपूर्ण है | इस में हमे supply market structures, allocation of resources, price theory यह विषय को पढ़ाया जाता हैं |

Business Analytics

आज के समय में सभी चीजें ऑनलाइन और इंटरनेट पर आ गई है | इसलिए हमें भी इंटरनेट और ऑनलाइन की जानकारी होना बहुत जरूरी है |

यह विषय में विदयार्थी Business Analytics के अलग – अलग प्रकार के सॉफ्टवेयर के बारे में पढ़ाया जाता हैं | इन सभी सॉफ्टवेयर के द्वारा हम अपने बिजनेस को एनालिसिस कर सकते हैं | उनके द्वारा अपने बिजनेस ऑपेरेशन को और भी बेहतर बनाते हैं | इन सॉफ्टवेयर में हम अपने कंपनी के पुराने और अभी के डाटा को देक सकते है और उनको कॉम्पर करके हम अपने भविष्य के प्लान को तैयार कर सकते हैं |

Financial and Management Accounting

इस विषय में फाइनेंसियल एकाउंटिंग और मैनेजमेंट अकाउंटिंग के बारे में पड़ेंगे फाइनेंसियल एकाउंटिंग और मैनेजमेंट अकाउंटिंग में एक अंतर होता है और इसी अंतर को हम इस विषय में पड़ेंगे और फाइनेंसियल एकाउंटिंग मैनेजमेंट एकाउंटिंग के द्वारा कैसे हम ऑर्गेनाइजेशन को मैनेज करते हैं इसके बारे में सीखेंगे।

Introduction to Sociology

यह विषय में विदयार्थीयों को समाज के तौर-तरीकों के बारे मे पढ़ाया और सिखाया जाता है | समाज में कैसे काम करना है किस तरह अपने बिजनेस को समाज में फैलाना है और किस तरह अपने प्रोडक्ट को लोगों तक पहुंचाना है | किसी भी तरह के बिजनेस में हमें समाज के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी होता है | क्योंकि तभी तो हम हमारे प्रोडक्ट को समाज के उपयोग अनुसार बना पाते हैं और हम समाज में हो रहे बदलाव को पढ़ते हैं |

BBA के बाद क्या करे (BBA ke baat kya kre)

बीबीए कंप्लेट करने के बाद आप फाइनेंशियल एनालिसिस, प्रोसेस एनालिसिट, मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव, इस तरह के पद पर आप जॉब कर सकते हैं | और इसके अलावा बहुत सारे कैरियर के विकल्प है | हम बात करते हैं कुछ कोर्सेज की जिनको करने के बाद आपको प्राइवेट क्षेत्र में जॉब मिल सकती है और यह उनकी सूची है |

MBA – मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन 

बीबीए के बाद MBA करने से आपकी जॉब प्रोफाइल अच्छी बनती है | और उस के बाद आपको मैनेजर की जॉब मिल सकती हैं | या फिर साथ-साथ आप HR – Human Resource भी बन सकते है |

B.Ed – Bachelor of Education 

बीबीए के बाद आप B.Ed कर के किसी भी सरकारी या प्राइवेट स्कूल में शिक्षक बन सकते हैं । और इसके साथ शिक्षक बनने के लिए आपको CTET का एग्जाम भी देना होता है |

LLB – एलएलबी 

अगर आप आपकी रुचि कानून की पढाई में रखते हैं तो आप बीबीए के बाद कानून की पढाई कर सकते हैं | आप चाहते हैं कि आगे चलकर आप लीगल एडवाइजर बने तो आप LLB के लिए एडमिशन ले सकते हैं | तो अब हम यह जानकारी लेते हैं कि BBA करने के बाद आपके पास सरकारी नौकरी के क्या क्या विकल्प है |

Government jobs after BBA

1) IAS – Indian Administrative Services 

UPSC द्वारा कंडक्ट करवाई जाने वाली सिविल सर्विस परीक्षा की आप तैयारी कर सकते हैं |
जैसे की :- भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) भारतीय पुलिस सेवा (IPS) भारतीय विदेश सेवा (IFS)

2) PCS – Provincial Civil Service

BBA पुरा करने के बाद आप PCS की तैयारी भी कर सकते हैं | PCS अधिकारी के लिए राज्य सरकारों द्वारा हर साल भर्ती एग्जाम करवाए जाते हैं |

3) SSC CGL

SSC CGL के द्वारा आप इनकम टैक्स अधिकारी भी बन सकते हो और उसके साथ-साथ आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में भी इंस्पेक्टर बन सकते हो और यह एग्जाम SSC द्वारा हर साल कंडक्ट किया जाता है |

4) SSC CHSL 

BBA पुरा करने के बाद आप SSC CHSL एग्जाम भी दे सकते हैं और यह एग्जाम भी SSC द्वारा ही कंडक्ट किया जाता है |

5) SSC MTS

BBA पुरा करने के बाद आपके पास SSC MTS की एग्जाम देने का विकल्प भी रहता है और यह भी एग्जाम SSC द्वारा ही कंडक्ट किया जाता है |

6) SSC GD

यह एग्जाम भी SSC द्वारा ही कंडक्ट किया जाता है | SSC GD एग्जाम के लिए आपको फिजिकल का ज्यादा ध्यान रखना है |

7) SSC Stenographer 

हर साल स्टेनोग्राफर की पोस्ट के लिए SSC
भर्तियां निकालता है | और इस पोस्ट के लिए आपको “स्टेनो” भाषा को सीखना होगा यह भी एग्जाम SSC द्वारा ही कंडक्ट किया जाता है |

8) SBI Clerk and SBI PO

BBA पुरा करने के बाद आप एसबीआई क्लर्क और एसबीआई पीयो की भी जॉब कर सकते हैं |

9) IBPS Clerk and IBPS PO

BBA पुरा करने के बाद आप SBI बँक छोड़कर किसी भी निजी या सरकारी बैंक में क्लर्क और पियो की जॉब IBPS एग्जाम के द्वारा कर सकते हैं |

10) RBI Assistant 

BBA पुरा करने के बाद आप RBI में असिस्टेंट की जाॅब भी कर सकते हैं और यह आरबीआई द्वारा कंडक्ट करवाई जाती है |

11) State Government Graduation Level Examination 

राज्य मंत्रालय और ऑफिस के लिए राज्य सरकारें भर्ती निकालती है | इसमें कही सारी पोस्ट आती है जो मुख्य तौर पर ग्रेजुएट के लिए होती है |

12) Defence Jobs

बीबीए की पढ़ाई पुरी करने के बाद आप Defence Jobs में जा सकते हैं |

13) इंडियन टेलीकॉम सर्विस

BBA पुरा करने के बाद आप इंडियन टेलीकॉम सर्विस में भी जा सकते है इस मे काही सारी मैनेजमेंट पोस्ट होती है | जिसके लिए बीबीए पास विद्यार्थी अप्लाई कर सकते है |

14) NDA & CDS 

BBA पुरा करने के बाद अगर आप डिफेंस क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो आप NDA & CDS के द्वारा सीधे ऑफिसर रैंक पर डिफेंस क्षेत्र में जा सकते हैं |

Conclusion

उमीद करता हूं की आपने BBA Ka Full Form in Hindi इस आर्टिकल को ठीक से और पूरी तरह से पढ लिया है तो इस आर्टिकल मे आपको बताई गई सभी जानकारी आपको अच्छे से समज आयी है कि BBA क्या होता है और BBA करने के बाद हम क्या क्या कर सकते है। BBA करके हमे कोन कोन सी जॉब मिल सकती है | तो आप यह जानकारी अपने दोस्तों को भी शेयर करें ताकी उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो |

हमसे जुड़े रहने के लिए और ऐसी कहि सारी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबा ऐ और आये हुये नोटिफिकेशन को Allow करे जिससे आप अन्य जानकारी का फायदा उठा सखे और ऐसी कहि सारी जानकारी के लिए आप हमारे साथ ऐसे ही बने रहे धन्यवाद

Leave a Reply